अस्पताल के आईसीयू में एक मरीज को बेडशीट से बांधकर रखा गया था, आग लगने के बाद वह बेड से उठ नहीं पाया और मौत हो गई

अस्पताल के आईसीयू में एक मरीज को बेडशीट से बांधकर रखा गया था, आग लगने के बाद वह बेड से उठ नहीं पाया और मौत हो गई 1

अहमदाबाद के कोविड अस्पताल आग हादसे में अब एक चौंकाने वाली बातें सामने आई है। अस्पताल के एक वार्ड ब्वॉय ने बताया कि आईसीयू में जब आग लगी थी, तब एक कोरोना मरीज अरविंदभाई भावसार की स्थिति बेड से उठने लायक भी नहीं थी, क्योंकि उसे बेडशीट से बांधकर रखा गया था। यही वजह रही कि वह आईसीयू से बाहर नहीं निकल पाया और उसकी मौत हो गई।

श्रेय कोविड अस्पताल के आईसीयू में गुरुवार तड़के 3.30 बजे आग लग गई। इस हादसे में 5 पुरुष और 3 महिलाओं समेत 8 मरीजों की जान चली गई। हादसे के वक्त आईसीयू में 10 मरीज और मेडिकल स्टाफ था। वैसे अस्पताल में कोविड के मरीजों के लिए 50 बेड हैं। हादसे के वक्त 49 मरीज भर्ती थे। 41 मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया।

अस्पताल के आईसीयू में एक मरीज को बेडशीट से बांधकर रखा गया था, आग लगने के बाद वह बेड से उठ नहीं पाया और मौत हो गई 2
आग से श्रेय अस्पताल का आईसीयू पूरी तरह जल गया। हादसे के वक्त 10 मरीज भर्ती थे।

बार-बार ऑक्सीजन मास्क निकाल रहे थे अरविंद
वार्ड ब्वॉय ने बताया कि अरविंदभाई बार-बार ऑक्सीजन मास्क निकाल रहे थे। उनसे बार-बार रिक्वेस्ट की जा रही थी कि अपना मास्क न निकालें, लेकिन वे नहीं मान रहे थे। इसी के चलते बेडशीट से उन्हें बांध दिया गया था। हादसे के दौरान जब आग फैल गई तो वे बेड से उठ भी नहीं सके।

मरीज भाविनभाई ने बताया- जलते हुए एक मरीज को भागते देखा
अस्पताल के एक मरीज भाविनभाई ने बताया कि उन्होंने जलते हुए एक मरीज को आईसीयू से भागते देखा। भाविनभाई अपनी बहन, बहनोई और भांजी के साथ इसी अस्पताल में इलाज करा रहे हैं। उन्होंने बताया कि रात को मुझे नींद नहीं आ रही थी। मैं वेब सीरीज देख रहा था। तभी आईसीयू से चीख-पुकार सुनाई दी। मैंने देखा तो एक मरीज आग का गोला बन चुका था और जान बचाने के लिए इधर-उधर भाग रहा था। फिर अचानक वह मरीज जमीन पर गिर गया। आईसीयू के हालात इतने बदतर हो चुके थे कि मैं चाहकर भी कुछ नहीं कर सकता था।

इन लोगों की मौत हुई: आरिफ मंसूरी (42), नवनीत शाह (80), लीलाबेन शाह (72), नरेंद्र शाह (61), अरविंद भावसार (78), ज्योंति सिंधी (55), मनुभाई रामी (82) और आयशा तिरमीजी (51)।

ये खबर भी पढ़ें…

1. गुजरात हादसे की इनसाइड स्टोरी:आईसीयू में शॉर्ट सर्किट से महिला के बालों में आग लगी, इसे बुझाने में 3 कर्मचारी भी झुलसे: ऑक्सीजन सिलेंडर से आग फैल गई और सब खाक हो गया

2. गुजरात में हादसा:अहमदाबाद के कोविड अस्पताल में आग लगी, 3 महिलाओं समेत 8 कोरोना मरीजों की मौत; पुलिस ने ट्रस्टी और एक कर्मचारी को हिरासत में लिया

3. गुजरात हादसे के पीड़ित परिवार का आरोप:ज्योतिबेन की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी आईसीयू में रखा था, दूसरे वार्ड में शिफ्ट किया जाता तो उनकी जान बच जाती

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

अस्पताल के आईसीयू में एक मरीज को बेडशीट से बांधकर रखा गया था, आग लगने के बाद वह बेड से उठ नहीं पाया और मौत हो गई 3
अस्पताल में कोविड के मरीजों के लिए 50 बेड हैं। हादसे के वक्त 49 मरीज भर्ती थे।