मीठा ज्यादा खाने से फैटी लिवर की समस्या अधिक 1

मीठा ज्यादा खाने से फैटी लिवर की समस्या अधिक

मीठा ज्यादा खाने से फैटी लिवर की समस्या अधिक 2

सवाल: लिवर रोगों का खतरा किन्हें अधिक रहता है?
उत्तर : जिनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है, अधिक मीठा खाते और अल्कोहल लेते व स्मोकिंग करते हैं। जिन्हें डायबिटीज और बीपी की समस्या लंबे समय से है, हेपेटाइटिस बी और सी के रोगियों को भी लिवर से जुड़ी बीमारियों की आशंका अधिक रहती है।
सवाल: चीनी (शुगर) का लिवर रोगों से क्या संबंध होता है?
उत्तर : फैटी डाइट की तुलना में चीनी से अधिक फैटी लिवर की समस्या होती है। सॉफ्ट ड्रिंक व फास्ट फूड में चीनी अधिक होती है। इनसे दिक्कत बढ़ती है। चीनी में 50-50त्न ग्लूकोज-फ्रक्टोज होता है। ग्लूकोज शरीर में जाकर सभी अंगों को ऊर्जा देता है जबकि फ्रक्टोज केवल लिवर में पहुंचता है। जहां वह ग्लूकोज या फैट में बदलता है। हाई काब्र्स डाइट लेने से शरीर में ग्लूकोज लेवल अधिक होता है। ऐसे में लिवर इसको फैट में बदल देता है। इससे ही फैटी लिवर की समस्या होती है। लिवर के सेल्स डैमेज होने लगते हैं।
सवाल: मधुमेह से कैसे लिवर को नुकसान होता है?
उत्तर : लिवर और किडनी का काम खून को फिल्टर करने का होता है। जब खून में शुगर का स्तर बढ़ता है तो फिल्टर के दौरान अधिक शुगर लिवर में जमा होने लगता है। इससे फैटी लिवर की समस्या होती है।
सवाल: लिवर रोगों से बचाव के लिए क्या करना चाहिए?
उत्तर : कुछ बातों का ध्यान रखें। रोज व्यायाम करें। हैल्दी डाइट लें। हाई काब्र्स, फैट और कैलोरी डाइट से बचें। चीनी जहर के समान है। अल्कोहल-स्मोङ्क्षक ग से दूर रहे हैं। मौसमी-फल सब्जियां ज्यादा मात्रा में खाएं।
सवाल: कोरोना का असर लिवर पर कैसे पड़ता है?
उत्तर : करीब 50-60त्न कोरोना मरीजों में लिवर का संक्रमण देखने को मिल रहा है। इसमें हल्के और गंभीर मरीज सभी हैं। कोरोना गंभीर होने पर लिवर पर असर अधिक होता है। खून ठीक से फिल्टर नहीं होता है। संक्रमण बढ़ता है। इसके कारण भी मृत्यु की आशंका बढ़ जाती है।
सवाल: जिन्हें पहले से लिवर रोग जैसे लिवर सिरोसिस उन्हें क्या सलाह देना चाहेंगे?
उत्तर : सिरोसिस में लिवर का आकार सिकुडकऱ छोटा और सख्त हो जाता है। फिल्टर की प्रक्रिया बाधित होती है। कोरोना में गंभीर होने की आशंका इसलिए अधिक होती है कि वायरस-बैक्टीरिया फिल्टर नहीं हो पाते हैं। संक्रमण बढ़ता है।
डॉ.राजेश उपाध्याय, वरिष्ठ गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट व सीनियर डायरेक्टर गैस्ट्रोएंट्रोलॉजी विभाग, मैक्स हॉस्पिटल, नई दिल्ली