15 मिनट में बेड, 30 मिनट में इंजेक्‍शन, खुद कोरोना पॉजिटिव होकर भी लोगों की मदद कर रहे हैं सोनू सूद 1

15 मिनट में बेड, 30 मिनट में इंजेक्‍शन, खुद कोरोना पॉजिटिव होकर भी लोगों की मदद कर रहे हैं सोनू सूद

15 मिनट में बेड, 30 मिनट में इंजेक्‍शन, खुद कोरोना पॉजिटिव होकर भी लोगों की मदद कर रहे हैं सोनू सूद 2

कोरोना काल में () जो कर रहे हैं, वह किसी भी सरकार या प्रशासन के लिए एक सीख है। पिछले साल लॉकडाउन की शुरुआत से लेकर अभी तक सोनू सूद मजदूरों और मजबूरों के लिए किसी मसीहा से कम नहीं हैं। कोरोना की दूसरी लहर में जहां प्रशासनिक तैयारियां फेल दिख रही हैं, वहीं सोनू सूद एक ट्वीट पर 15 मिनट में अस्‍पताल में बेड (Hospital Beds) और 30 मिनट में जरूरतमंदों तक इंजेक्‍शन (Remdesivir Injection) पहुंचवा रहे हैं। वह भी तब, जब सोनू सूद खुद कोरोना पॉजिटिव (Covid-19) हैं और क्‍वॉरंटीन में हैं। सिर्फ एक ट्वीट और तैयार रहते हैं सोनू सूदसोनू सूद की मदद का सिलसिला जारी है। वह जहां एक ओर घर लौट रहे प्रवासियों की मदद कर रहे हैं, वहीं कोरोना संक्रमित उन मरीजों की मदद में भी जुटे हैं, जिन्‍हें अस्‍पताल में बेड नहीं मिल रहा या दवाई नहीं मिल रही है। सोनू सूद सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं और दिलचस्‍प है कि कोरोना संक्रमित होने के बाजवूद वह ट्विटर पर मदद की गुहार का हरसंभव जवाब दे रहे हैं। ताजा मामला टीवी शोज के प्रड्यूसर अरुण शेषकुमार से जुड़ा है। अरुण ने ट्वीट कर सोनू सूद से मदद मांगी, ‘सोनू सूद भाई, उमेश जी हमारे कैमरामैन में से एक हैं। उनके परिवार को मदद की जरूरत है। कृपया सहायता कीजिए।’ 15 मिनट में उमेश जी को मिला अस्‍पताल में बेड सोनू सूद ने क्‍वॉरंटीन में रहते हुए भी इस ट्वीट का न सिर्फ जवाब दिया, बल्‍क‍ि मदद भी की। ऐक्‍टर ने लिखा, ‘उन्हें 15 मिनट के अंदर आईसीयू में बेड मिलेगा। तैयार रहिए, उनको बचाते हैं।’ अच्‍छी बात यह रही कि कैमरामैन उमेश को बेड मिल गया। इसके बाद अरुण शेषकुमार ने फिर से ट्विटर पर रिप्लाई करते हुए लिखा, ‘सोनू सूद भाई, उमेश के परिवार को बेड मिल गया है। आप रॉकस्‍टार हो। बहुत-बहुत शुक्रिया। ईश्वर आप पर कृपा करें।’ एक दिन में 204 लोगों को करवाया अस्‍पताल में भर्ती सोनू सूद की ओर से मदद की यह सिर्फ बानगी है। उनके ट्विटर पेज पर जितने ट्वीट उतनी कहानियां हैं। मदद की, गुहार की, चिंता की और इन सब से अध‍िक सोनू सूद के लिए दुआओं की। मंगलवार को ही सोनू सूद ने एक ट्वीट कर जानकारी दी कि 20 अप्रैल को उनके पास इमरजेंसी बेड्स के लिए 417 लोगों ने मदद मांगी, वह इनमें से 204 लोगों को अस्‍पताल में बेड दिलवा सकें। सोनू लिखते हैं, ‘कल से बेहतर। आप सब के सहयोग के कारण।’ 30 मिनट में पहुंचाया रेमडेसिवीर इंजेक्‍शन ऐसे ही एक और ट्विटर हैंडल श्रेया श्रीवास्‍तव ने अपने चाचा की जिंदगी बचाने के लिए रायपुर, छत्तीसगढ़ में रेमडेसिवीर इंजेक्शन के लिए मदद मांगी। सोनू सूद ने श्रेया को जवाब दिया, ‘अगले 30 मिनट में इंजेक्‍शन आपके हाथों में होगा।’ प्रवासियों से पलायन से दुखी हैं सोनू देश में एक बार फिर कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में देश के तमाम शहरों से एक बार फिर प्रवासी अपने घर को लौट रहे हैं। आंखों में अंतहीन उदासी को समेटे इन मजबूर मजदूरों का घर लौटना सोनू सूद को दुखी करता है। उन्‍होंने मंगलवार को ही बस पर सवार लोगों की एक फोटो ट्वीट करते हु‍ए लिखा, ‘गांव वाले गांव चले जाएंगे, तो शहर वाले शहर कैसे बनाएंगे।’ 17 अप्रैल को कोविड पॉजिटिव पाए गए सोनू सूद
सोनू सूद ने 17 अप्रैल को बताया था कि वह कोरोना पॉजिटिव हैं। सोनू ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा, ‘नमस्कार दोस्तों, मैं आपको बताना करना चाहता हूं कोविड-19 का मेरा टेस्ट पॉजिटिव आया है। इसलिए मैंने खुद को क्वॉरंटीन कर लिया है। चिंता की कोई बात नहीं है, उल्टा अब मेरे पास पहले से ज्यादा समय रहेगा आपकी परेशानियों को हल करने के लिए। याद रहे, कोई भी तकलीफ… मैं हमेशा आपके साथ हूं।’