ये है सलमान खान और आयुष शर्मा की 'अंतिम' की कहानी, फिल्म में देखने को मिलेगी 'जीजा-साले' की भिड़ंत 1

ये है सलमान खान और आयुष शर्मा की ‘अंतिम’ की कहानी, फिल्म में देखने को मिलेगी ‘जीजा-साले’ की भिड़ंत

ये है सलमान खान और आयुष शर्मा की 'अंतिम' की कहानी, फिल्म में देखने को मिलेगी 'जीजा-साले' की भिड़ंत 2

() और () की फिल्म ” (Antim: The Final Truth) की रिलीज का फैंस काफी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

फिलहाल, फिल्म की रिलीज डेट सामने नहीं आई है लेकिन बताया जा रहा है कि फिल्म त्यौहार के दौरान ही रिलीज होगी।

फिल्म के डायरेक्टर महेश मांजरेकर का मानना है कि फिल्म बड़े पर्दे पर देखने लायक है इसलिए वह महाराष्ट्र में सिनेमाघरों के खुलने का इंतजार कर रहे हैं।

उनको उम्मीद है कि अक्टूबर तक महाराष्ट्र में सिनेमाघर खुल जाएं।

मराठी फिल्म ‘मुलशी पैटर्न’ का रीमेक है ‘अंतिमः द फाइनल ट्रूथ’
फिल्म ‘अंतिमः द फाइनल ट्रूथ’ मराठी फिल्म ‘मुलशी पैटर्न’ का रीमेक है।

साल 2018 में रिलीज हुई ‘मुलशी पैटर्न’ का डायरेक्शन प्रवीण तरडे ने किया था।

अब प्रवीण तरडे ने फिल्म ‘अंतिमः द फाइनल ट्रूथ’ को लिखा है।

‘मुलशी पैटर्न’ में गैंगस्टर राहुल्या का रोल ओम भुटकर ने निभाया था।

वहीं, इंस्टपेक्टर बिठ्ठल गोडबोले का किरदार उपेंद्र लिमये ने किया था।

‘अंतिमः द फाइनल ट्रूथ’ में आयुष शर्मा गैंगस्टर का रोल और सलमान खान इंस्पेक्टर का रोल कर रहे हैं।

फ्लैशबैक में शुरू होती है कहानी
फिल्म की कहानी में राहुल्या (आयुष शर्मा) के साथ शुरू होती है और फ्लैशबैक में जाकर दिखाती है कि राहुल्या कैसे एक गैंगस्टर बन गया।

राहुल्य के पिता एक किसान होते हैं और उन्हें जमीन बेचने पर मजबूर किया जाता है।

इस पर राहुल्या को लगता है कि उसके परिवार की इज्जत चली गई।

उसके पिता एक बिल्डर के बंगले पर वॉचमैन की नौकरी करने लगते है लेकिन गलती से उनकी कार को नुकसान होने पर उन्हें नौकरी से निकाल दिया जाता है और अपमानित किया जाता है।

राहुल्या को होता है प्यार
फिल्म की कहानी में आगे राहुल्या को प्रधान मजदूर की बेटी से प्यार हो जाता है।

एक सुबह राहुल्या गुस्से में एक ठेकेदार की पिटाई करता है और मार देता है, जिसने उसके पिता को गाली दी थी।

राहुल्या के मर्डर करने पर वहां का लोकल गैगंस्टर उसे अपने साथ काम करने के लिए कहता है।

इस पर वह और उसका दोस्त काम करना शुरू कर देते हैं।

राहुल्या को जब पता चलता है कि उस लोकल गैंगस्टर ने ही उसके पिता को जमीन बेचने पर मजबूर किया था।

इस पर वह उसे मार देता है और गैंग खुद चलाने लगता है।

लोकल गैंगस्टर की मौत के बाद गैंग में ही लड़ाई शुरू हो जाती हैं।

इंस्पेक्टर राजवीर सिंह की एंट्री
फिल्म आगे बढ़ती है और राहुल्या अब बिजनेसमैन द्वारा बनाई गईं जमीनों पर कंट्रोल करने की कोशिश करता है।

इससे अन्य गैंग उससे नाराज हो जाते हैं।

वहीं, पुलिस इंस्पेक्टर राजवीर सिंह (सलमान खान) की एंट्री होती है।

राजवीर सिंह सोचता है कि जब गैंग एक-दूसरे के साथ लड़कर मर जाएंगे तो क्राइम अपने आप कम हो जाएगा।

राहुल्या अपना एक दोस्त बनाता है और उसे गन देता है।

उधर, राहुल्या प्रधान मजदूर की बेटी से शादी करना चाहता है लेकिन वह मना कर देती है क्योंकि वह गैंगस्टर है।

राहुल्या अपने परिवार से मिलता है तो उसे पता चलता है कि परिवार के लोग ईमानदारी से जीवनयापन कर रहे हैं जबकि वह क्राइम दुनिया में जी रहा है।

राहुल्या के पिता कहते हैं कि उसके काम ने उनकी खुशियां छीन ली हैं।

आखिरकार विरोधी गैंग राहुल्य को हराने के लिए एकजुट होते है और उसका गिरोह कमजोर हो जाता है।

दरअसल, उसके गिरोह के कई सदस्य मारे जाते हैं।

राहुल्या की मौत
फिल्म अब फ्लैशबैक से वर्तमान में आती है तो राहुल्या अपने विरोधी गैंग से बचने से कोशिश करता है।

राहुल्या जिस दोस्त को गन देता है वो ही उसे शूट कर देता है।

इस तरह से राहुल्या की मौत हो जाती है।

वहीं, राहुल्या की मौत की खबर सुनकर उसके पिता को खुशी होती है क्योंकि वह कहते हैं कि अब उनका बेटा गैंगस्टर नहीं रहा।