...तो उन आलोचनाओं को दिल से लगा बैठे अमिताभ, फैन्स के लिए छोड़ दिया करोड़ों का ऐड! 1

…तो उन आलोचनाओं को दिल से लगा बैठे अमिताभ, फैन्स के लिए छोड़ दिया करोड़ों का ऐड!

...तो उन आलोचनाओं को दिल से लगा बैठे अमिताभ, फैन्स के लिए छोड़ दिया करोड़ों का ऐड! 2

(Amitabh Bachchan) उन सितारों में हैं जो कई बार सोशल मीडिया पर आलोचनाओं के भी शिकार हो जाते हैं।

ऐसा ही कुछ उस वक्त भी हुआ था जब अमिताभ बच्चन का पान मसाला वाला विज्ञापन () सामने आया।

लोगों ने इस ऐड के लिए जमकर उनकी खिंचाई की थी, हालांकि तब ऐक्टर ने अपनी ओर से उन्हें जवाब देकर शांत करने की भी कोशिश की थी।

अब करीब महीने भर बाद अमिताभ के जन्मदिन पर यह खबर आई कि पान मसाला ऐड से उन्होंने अपना हाथ पीछे खींच ( Terminates Contract Pan Masala Brand) लिया है।

अब ऐसा लग रहा है कि अमिताभ बच्चन उन आलोचनाओं को कहीं दिल से तो नहीं लगा बैठे।

हालांकि, इतना तो तय है कि अमिताभ के इस फैसले से उनके फैन्स के मन में अपने चहेते सितारे के लिए सम्मान जरा और बढ़ गया है।

अमिताभ बच्चन के पान मसाला ब्रांड के साथ विज्ञापन के साथ अनुबंध खत्म करना बड़ी बात नहीं है क्योंकि वह कई विज्ञापन करते हैं तो एक नहीं करेंगे तो कोई बात नहीं।

बड़ी बात तो ये है कि अमिताभ बच्चन ने लोगों के कहने पर समाज के बारे में सोचा और विज्ञापन से दूरी बना ली।

अमिताभ बच्चन के फैंस तो उन्हें भगवान की तरह पूजते ही हैं लेकिन इस बात ने ये साबित कर दिया कि अमिताभ बच्चन भी अपने फैंस को उतना ही प्यार करते हैं।

बॉलिवुड सिलेब्स की एड फीस बात करें तो ये लोग करोड़ो रुपये में फीस लेते हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, जहां आमिर खान एक विज्ञापन के लिए करीब 11 करोड़ चार्ज करते हैं, वहीं शाहरुख खान 9 करोड़ और अमिताभ बच्चन करीब 8 करोड़ फीस लेते हैं।

गौरतलब है कि अमिताभ बच्चन ने अपने जन्मदिन पर घोषणा की है कि उन्होंने एक पान मसाला ब्रांड के साथ अपना अनुबंध समाप्त कर दिया है।

उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि यह ‘सरोगेट विज्ञापन’ के अंतर्गत आता है।

अमिताभ बच्चन के ऑफिस की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि ‘कमला पसंद’ विज्ञापन प्रसारित होने के कुछ दिनों बाद अमिताभ बच्चन ने ब्रांड से संपर्क किया और पिछले हफ्ते अनुबंध से बाहर निकल गए हैं।

अमिताभ बच्चन के कार्यालय के बयान आगे कहा गया है कि अमिताभ बच्चन ने ब्रांड के साथ अनुबंध समाप्त कर दिया है, उन्हें अपनी समाप्ति के लिए एक पत्र लिखा है और प्रचार के लिए हासिल रकम को वापस कर दिया है।

यह कदम तब आया है जब मेगास्टार से एक राष्ट्रीय तंबाकू विरोधी संगठन द्वारा पान मसाला को बढ़ावा देने वाले अभियान से खुद को वापस लेने का अनुरोध किया गया था, यह कहते हुए कि यह युवाओं को तंबाकू से मुक्ति दिलाएगा।

बताते चलें कि सितंबर में अमिताभ बच्चन ने एक सोशल मीडिया यूजर को जवाब दिया था, जिसने उनसे पूछा था कि उन्होंने ब्रांड को एंडोर्स करने का विकल्प क्यों चुना।

अमिताभ बच्चन ने तब कहा कि था कि अगर कुछ लोगों को किसी उद्योग से लाभ मिल रहा है, तो हमें यह नहीं सोचना चाहिए कि ‘मैं इससे क्यों जुड़ रहा हूं?’ अगर यह एक उद्योग है, तो हमें भी इसे अपना उद्योग समझना चाहिए।

अब, आप सोच सकते हैं कि मुझे यह नहीं करना चाहिए, लेकिन मुझे इसके लिए भुगतान मिलता है।