जेल के बाहर मीडिया को देखते ही Raj Kundra ने जोड़ लिए हाथ, चेहरे पर सिमटी हुई थी मायूसी 1

जेल के बाहर मीडिया को देखते ही Raj Kundra ने जोड़ लिए हाथ, चेहरे पर सिमटी हुई थी मायूसी

जेल के बाहर मीडिया को देखते ही Raj Kundra ने जोड़ लिए हाथ, चेहरे पर सिमटी हुई थी मायूसी 2

पोर्नोग्राफी केस (Pornography Case) में फंसे (Raj Kundra) को शुक्रवार को बड़ा झटका मिला है।

मुंबई की किला कोर्ट ने उनकी पुलिस रिमांड 27 जुलाई तक () के लिए बढ़ा दी है।

राज कुंद्रा और उनकी कंपनी के आईटी हेड रायन थार्प की कस्‍टडी 23 जुलाई को खत्‍म हो रही थी।

ऐसे में दोपहर करीब 12 बजे उन्‍हें भायकला जेल से बाहर निकालकर कोर्ट ले जाया गया।

अभी कोर्ट की सुनवाई में वक्‍त था।

राज जेल के मुख्‍य दरवाजे से बाहर पुलिस की गाड़ी में बैठे और काफिला आगे बढ़ा।

इस बीच बाहर खड़ी मीडिया ने जैसे ही राज को देखा, कैमरे चमकने लगे।

राज कुंद्रा ने जब मीडिया के लोगों को देखा तो उन्‍होंने हाथ जोड़ लिए।

उस वक्‍त () उनके चेहरे पर मायूसी साफ झलक रही थी।

…और राज कुंद्रा ने जोड़ लिए हाथमुंबई की किला कोर्ट में क्राइम ब्रांच ने राज कुंद्रा को शुक्रवार को दोबारा पेश किया।

राज कुंद्रा को उम्‍मीद थी कि उन्‍हें जमानत मिल जाएगी।

लेकिन साथ ही उनके चेहरे पर जेल से निकलते वक्‍त जिस तरह की मायूसी दिखी, उससे यही लगता है कि उन्‍हें पता था कि यह राह उतनी आसान नहीं है।

लिहाजा, जब कैमरों की नजर राज पर पड़ी तो उन्‍होंने गाड़ी में बैठते ही हाथ जोड़ लिए।

पुलिस को ऑनलाइन सट्टेबाजी का भी शककिला कोर्ट में सुनवाई के दौरान मुंबई पुलिस ने राज कुंद्रा की जमानत का विरोध किया और कस्‍टडी 7 दिन और बढ़ाए जाने की मांग की।

पुलिस ने कोर्ट में कहा कि राज कुंद्रा जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं।

‘एएनआई’ की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने कोर्ट से यह कहा कि उन्‍हें शक है कि राज कुंद्रा पॉर्न फिल्‍मों से होने वाली कमाई से ऑनलाइन सट्टेबाजी करते थे।

उनके यस बैंक के अकाउंट और यूनाइटेड बैंक ऑफ अफ्रीका के बीच के ट्रांजेक्‍शंस की जांच करने की जरूरत है।

लिहाजा, राज कुंद्रा से और अध‍िक पूछताछ करने की जरूरत होगी।

कोर्ट ने क्राइम ब्रांच की अपील को स्‍वीकार करते हुए राज कुंद्रा की जमानत अर्जी खारिज कर दी।

चार दिन के लिए उनकी कस्‍टडी बढ़ा दी गई।

‘बम्‍बई हाई कोर्ट में देंगी जमानत की अर्जी’दूसरी ओर, राज कुंद्रा के वकील संतोष जाधव जमानत नहीं दिए जाने से निराश हैं।

उन्‍होंने कोर्ट का सम्‍मान करते हुए कहा कि वह अब आगे बम्‍बई हाई कोर्ट में नए सिरे से जमानत की अर्जी देंगे।

एडवोकेट संतोष जाधव ने कहा कि राज कुंद्रा की गिरफ्तारी अवैध तरीके से की गई है।

पुलिस ने पोर्नोग्राफी मामले में 4000 पन्‍नों की चार्जशीट तो तैयार कर ली है, लेकिन एक भी ऐसा वीडियो पेश नहीं कर पाई है, जो धारा 67 ए के तहत अवैधत प्रदर्शन का दोषी हो।

वकील का कहना है कि राज कुंद्रा ने जो फिल्‍में बनाई हैं वो इरॉटिक की श्रेणी में आती हैं पॉर्न की श्रेणी में नहीं।