CNG-PNG Rates: पीएनजी-सीएनजी के दाम पर अंतरराष्ट्रीय बाजार का असर, नेचुरल गैस की कीमत इस साल छह गुना बढ़ी 1

CNG-PNG Rates: पीएनजी-सीएनजी के दाम पर अंतरराष्ट्रीय बाजार का असर, नेचुरल गैस की कीमत इस साल छह गुना बढ़ी

CNG-PNG Rates: पीएनजी-सीएनजी के दाम पर अंतरराष्ट्रीय बाजार का असर, नेचुरल गैस की कीमत इस साल छह गुना बढ़ी 2

नई दिल्ली
CNG rate Delhi: इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (IGL) राजधानी दिल्ली समेत कई शहरों में सीएनजी (CNG) और पीएनजी (Piped Natural Gas) के दाम बढ़ा रही है।

कंपनी ने ट्वीट करके कहा है कि दिल्ली में 13 अक्टूबर सुबह 6 बजे से सीएनजी की कीमत 49.76 रुपये प्रति किलो हो गई है।

12 दिन में दूसरी बार सीएनजी और पीएनजी के दाम बढ़े हैं।

IGL ने पीएनजी की कीमतों में भी बदलाव किया है।

13 अक्टूबर से राजधानी दिल्ली में पीएनजी की कीमत 35.11 रुपये प्रति SCM हो गई है।

गैस या पेट्रोल-डीजल के भाव में सिर्फ भारत में ही वृद्धि नहीं हो रही है, ग्लोबल मार्केट में भी इसके भाव में तेज वृद्धि दर्ज की गई है।

यह भी पढ़ें: यूरोप में पांच गुना बढ़े भाव पश्चिमी देशों में घरों को गर्म रखने के लिए नेचुरल गैस की सप्लाई की जाती है।

पिछले साल की तुलना में यूरोप या ब्रिटेन में इस साल नेचुरल गैस की कीमत 5 गुना बढ़ चुकी है।

ग्लोबल मार्केट में में अब तक 6 गुना वृद्धि दर्ज की जा चुकी है।

गैस के भाव बढ़ने की वजह
अंतरराष्ट्रीय बाजार में नेचुरल गैस के भाव बढ़ने की अलग-अलग वजहें हैं।

हॉलैंड में भूकंप, चीन द्वारा अपने वातावरण को साफ करने की कोशिश की वजह से गैस की बढ़ी मांग और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के पावर पॉलिटिक्स को इसके पीछे मुख्य वजह माना जा सकता है।

इसका असर साफ देखा जा सकता है।

यूरोप में नेचुरल गैस मंगाने वाले रिकॉर्ड प्राइस दे रहे हैं जबकि दुनियाभर में गैस की सप्लाई में समस्या आ रही है।

ऊर्जा की खपत बढ़ी दुनिया भर में अब कोरोना का असर कम हो रहा है और इसकी वजह से अंतरराष्ट्रीय लेवल पर एनर्जी के खपत में तेजी आई है।

औद्योगिक गतिविधियां अपने सामान्य दौर में लौट रही हैं जिस वजह से गैस की मांग बढ़ रही है।

इस साल ग्लोबल इकोनामिक रिकवरी की दर पिछले 80 साल के शीर्ष स्तर पर पहुंचने की उम्मीद है।

इसके साथ ही उत्तरी ध्रुव में इस बार ठंड अधिक पड़ने की आशंका जताई जा रही है जिसकी वजह से गैस की डिमांड बढ़ गई है।

अमेरिका में गैस के भाव तीन गुना
अगर बात अमेरिका में नेचुरल गैस प्राइस की करें तो अक्टूबर 2020 की तुलना में इस समय वहां गैस के भाव 3 गुना हो चुके हैं।

1 साल पहले की तुलना में ग्लोबल कोल प्राइस 5 गुना हो चुके हैं।

यह एक बड़ी वजह है कि भारत और चीन में सर्दियों से ठीक पहले थर्मल पावर प्लांट में कोयले की कमी हो गई है।

नेचुरल गैस के भाव में तेज वृद्धि की वजह से कई देशों में अब बिजली बनाने के लिए कोयले का उपयोग किया जा रहा है।

इसमें अमेरिका यूरोप और एशिया जैसे देश शामिल है।

यह भी पढ़ें: